तांत्रिक प्रयोगों से रक्षा के 6 अचूक प्रयोग :

आध्यात्मिक और तांत्रिक प्रयोग एक प्राचीन भारतीय विज्ञान का हिस्सा रहे हैं, जिनका उद्देश्य व्यक्तिगत सुरक्षा और रक्षा में मदद करना होता है। यह तांत्रिक प्रयोगों से रक्षा के 6 अचूक प्रयोग न केवल आपकी शारीरिक सुरक्षा को बढ़ावा देते हैं, बल्कि आपकी आत्मा और मानसिक स्थिति को भी मजबूती प्रदान करते हैं। इस लेख में, हम आपको तांत्रिक प्रयोगों से रक्षा के 6 अचूक प्रयोगों के बारे में बताएंगे जिनका आप अपने दैनिक जीवन में उपयोग कर सकते हैं।

1. सबसे पहले, एक छोटे बर्तन में पीली सरसों, गुग्गल, लोबान और गौघृत को सामग्री के रूप में तैयार करें। यह सभी तत्व आपके घर में आसानी से उपलब्ध हो सकते हैं। पीली सरसों, गुग्गल, लोबान और गौघृत को मिलाकर एक शक्तिशाली धूप बनाने का यह अद्वितीय तरीका है, जो नकारात्मक शक्तियों को दूर करने में मदद कर सकता है। धूप तैयार होने के बाद, आपको उसे सूर्यास्त के बाद के 1 घंटे के भीतर उपले जलाना है। यह धूप आपके घर में शुभ ऊर्जा को आमंत्रित करने में मदद करेगा। यह क्रिया को 21 दिन तक नियमित रूप से करें। हर दिन सूर्यास्त के बाद इस धूप का उपयोग करें और उसका धुआं पूरे घर में करें। इस 21 दिन के अभ्यास से आपके घर में सकारात्मक ऊर्जाएँ आएगी और नकारात्मकताओं का प्रतिरोध होगा। यह अद्भुत प्रयोग आपके जीवन में शांति और सकारात्मकता का आभास कराएगा।

2. गौ, लोचन और तगर की थोड़ी सी मात्रा को लाल कपड़े में बांधकर अपने पूजा स्थल में रखने से शिव कृपा से सभी तांत्रिक प्रयोगों का असर समाप्त हो जाता है। यह एक आदर्श प्रयोग है जो आपके घर में पौराणिक शक्तियों को आमंत्रित करने में मदद कर सकता है।

गौ मूत्र, लोचन और तगर का उपयोग हिंदू धार्मिक परंपरा में विभिन्न पूजा-अर्चना कार्यों में किया जाता है। इनके माध्यम से उपास्य देवी-देवताओं के प्रति हमारी श्रद्धा और भक्ति का प्रकटीकरण होता है। लाल कपड़े में बांधकर रखने से इन तत्वों की शक्तियाँ और विशेषताएँ आपके पूजा स्थल में संजीवनी ऊर्जा के रूप में प्रविष्ट होती हैं।

शिव की कृपा से, इस प्रयोग से सभी नकारात्मक शक्तियाँ और प्रभाव समाप्त हो जाते हैं और आपके जीवन में शांति, सकारात्मकता और उत्तरोत्तर प्रगति की संभावनाएँ बढ़ जाती हैं। इस प्रयोग को नियमित रूप से आचरण करके, आप अपने घर में सकारात्मक ऊर्जाओं का संरक्षण कर सकते हैं और अपने जीवन को सफलता की ओर अग्रसर कर सकते हैं।

3 – घर की सफाई का ध्यान रखना और प्राकृतिक उपायों का उपयोग करना हमारे जीवन को स्वस्थ और शुद्ध बनाने में मदद कर सकता है। घर में साफ-सफाई रखने के साथ-साथ पीपल के पत्तों का उपयोग करके और गौमूत्र के छींटों से आप एक स्वास्थ्यपूर्ण और ऊर्जावान आवास बना सकते हैं।

गौमूत्र के छींटे का उपयोग: गौमूत्र का उपयोग पुरानी परंपराओं में स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं के उपचार में किया जाता रहा है। इसके छींटे घर में छिड़काव करने से आप नकारात्मकताओं को दूर कर सकते हैं और स्थितिकरण की ऊर्जा को बढ़ावा दे सकते हैं।

4 – कई बार जीवन में ऐसा समय आता है जब आपकी सफलता और तरक्की से आपके शत्रु चिढ़कर आपको असहमति दिखाने का प्रयास करते हैं। तांत्रिकों द्वारा किए गए अभिचार के कारण व्यवसायिक समस्याएँ बढ़ सकती हैं और आपके जीवन में गृह क्लेश उत्पन्न हो सकता है। इस अशुभ प्रभाव से बचने के लिए, एक प्राचीन उपाय है, जिसमें सवा 1 किलो काले उड़द, सवा 1 किलो कोयला को सवा 1 मीटर काले कपड़े में बांधकर उपयोग किया जाता है।

आपको यह कार्य शनिवार के दिन करना है। सवा 1 किलो काले उड़द, सवा 1 किलो कोयला को सवा 1 मीटर काले कपड़े में बांधकर अपने ऊपर से 21 बार घुमाएं और फिर उन्हें बहते जल में विसर्जित करें। इसके बाद, आपको मन में हनुमान जी का ध्यान करना है। आपको यह क्रिया लगातार 7 शनिवारों तक करनी है। इस उपाय से आप तांत्रिक अभिकर्म से मुक्ति प्राप्त कर सकते हैं और आपके जीवन में सकारात्मकता और सुरक्षा की ऊर्जा बढ़ सकती है।

5 – अगर आपको ऐसा विचार आ रहा है कि कोई आपके खिलाफ साजिश कर रहा है और आपकी सुरक्षा को खतरा हो सकता है, तो आप एक अत्यंत प्राचीन और शक्तिशाली उपाय का आमंत्रण कर सकते हैं। इसके लिए आपको पपीते के 21 बीज लेकर एक शिव मंदिर जाना होगा।

शिव मंदिर में पहुंचने पर, आपको शिवलिंग पर कच्चा दूध चढ़ाना है, और उसके बाद एक धूप बत्ती जलानी होगी। इसके बाद, आपको शिवलिंग के निकट बैठकर पपीते के बीजों को अपने सामने रखना है। अपने नाम और गोत्र का उच्चारण करते हुए, आपको भगवान शिव से अपनी सुरक्षा की गुहार करनी चाहिए। इसके बाद, आपको महामृत्युंजय मंत्र की माला का जाप करना चाहिए।

इस उपाय को करते समय, आपको पपीते के बीजों को एकत्रित करके तांबे के ताबीज में भरकर उसे अपने गले में धारण कर लेना चाहिए। यह ताबीज आपकी रक्षा और सुरक्षा की कवच की भूमिका निभाएगा।

इस अद्भुत उपाय के द्वारा, आप अपनी सुरक्षा की गारंटी बना सकते हैं और अवसादित या आपत्तिजनक परिस्थितियों से बच सकते हैं। यह आपके जीवन में शांति और सुरक्षा की ऊर्जा को बढ़ावा देगा।

6 – अगर आपका शत्रु आपके जीवन में अनावश्यक परेशानी पैदा कर रहा है, तो आप एक अद्वितीय और प्राचीन उपाय का आमंत्रण कर सकते हैं। इसके लिए आपको एक नींबू को चार भागों में काटना होगा।

इन चार भागों को लेकर आपको एक चौराहे पर खड़ा होना है। यहाँ पर, आपको अपने इष्ट देव का ध्यान करते हुए चारों दिशाओं में एक-एक भाग को फेंक देना होगा। इसके बाद, आपको अपने घर लौटकर अपने हाथ-पांव धो लेने चाहिए। इस प्रयोग से आपको तांत्रिक अभिकर्म से मुक्ति मिल सकती है।

यह विशेष उपाय आपके शत्रु के नकारात्मक प्रभावों को दूर करने में मदद कर सकता है और आपके जीवन में सकारात्मकता और सुरक्षा की भावना को बढ़ावा दे सकता है। इस उपाय को नियमित रूप से आचरण करके, आप अपने जीवन को तांत्रिक अभिकर्म से मुक्त कर सकते हैं और आपके चारों दिशाओं में सकारात्मकता की ऊर्जा को बढ़ावा दे सकते हैं।

संक्षिप्त में :
तांत्रिक प्रयोगों से रक्षा एक प्राचीन और आध्यात्मिक तकनीक है जो हमें नकारात्मकताओं से बचाकर सकारात्मकता और सुरक्षा की भावना प्रदान करती है। तांत्रिक प्रयोगों से रक्षा के ये 6 अचूक प्रयोग आपको न केवल शारीरिक सुरक्षा प्रदान करते हैं, बल्कि आपकी आत्मा को भी मजबूती और सकारात्मकता से भर देते हैं। इन प्रयोगों का नियमित अभ्यास करके आप अपने जीवन को सुरक्षित और समृद्ध बना सकते हैं।

ज्योतिषाचार्य प्रदीप कुमार- मो. 9438741641 {Call / Whatsapp}

Leave a Comment